A Portrait Of A Woman .. Aruna P. Khot

Aaj Sirhaane

शेक्सपियर की एक प्रसिद्द पंक्ति है “नाम में क्या रखा है” .. लेकिन हमारे भारत में कहते है हमें जो नाम दिया जाता है .. हम उसी नाम के प्रयायवाची बन जाते हैं .. इस का सबसे अच्छा उदाहरण है हम सब की दिल ओ जान से प्यारी अरुणा जी. संस्कृत में अरुणा नाम का मतलब होता है “प्रातः कालीन लालिमा का रंग” .. हिन्दू पुराण में अरुण देव सूर्य भगवान् के सारथी का नाम है .. भोर समय पूरे आकाश में ये लाल रंग ही सूर्योदय होने का संकेत देता है .. मनुष्य के पास तो फिर भी अन्य साधन है लेकिन प्रकृति का अलार्म क्लॉक तो ये अरुन्य रंग ही है .. पक्षी, जानवर, फूल पत्ती .. सब को उषा का ये रंग ही बताता है कि उठ जाओ, सुबह होने वाली है ..

बस उसी तरह अरुणा जी हम सब के लिए हैं.. अपनी मनमोहक मुस्कान, उजली…

View original post 1,803 more words

Advertisements

About LalmaniTiwari

“This solves everything: It is either all unreal or it is all Real. If it is unreal, you can easily renounce it; you cannot own something that is unreal. If it is all Real, then that is what you are and there is nothing to renounce.”
This entry was posted in Uncategorized. Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s