Monthly Archives: August 2013

औपनिषदिक वचन: ईशावास्यमिदं सर्वं …

ईशोपनिषद् ग्रंथ में मनुष्य को भौतिक संग्रह करने की अपनी लालसा पर नियंत्रण करने का उपदेश अधोलिखित मंत्र के माध्यम से दिया गया है: ईशावास्यमिदं सर्वं यत्किञ्च जगत्यां जगत् । तेन त्यक्तेन भुञ्जीथा मा गृधः कस्यस्विद्धनम् ।। (ईशोपनिषद्, मन्त्र 1)…

Posted in Uncategorized | Leave a comment